December 18, 2012

उदंती.com-दिसम्बर 2012


मासिक पत्रिकाः वर्ष-3, अंक-4, उदंती.com-दिसम्बर 2012
हर अवसर और हर अवस्था में जो अपना कर्तव्य दिखाई दे उसी को धर्म समझ कर पूरा करना चाहिए -गीता

-------------------------------------
 
प्रकृति:घोंसला सजाने वाला बॉवर बर्ड 
आपके पत्र/मेल बॉक्स

Labels:

1 Comments:

At 25 December , Blogger हरकीरत ' हीर' said...

आद . रत्ना जी ,पहली बार आपकी पत्रिका से रू -ब-रू हुई ....बहुत अच्छा लगा अंक ...हार्दिक बधाई .....!!

' हरकीरत 'हीर'
गुवाह़ाटी (असाम )

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home