December 14, 2008

इस अंक में

उदंती.com , दिसम्बर 2008
सरस्वती से श्रेष्ठ कोई वैद्य नहीं है और उसकी साधना से 
बढक़र कोई दवा नहीं है। - एक जापानी सूक्ति

अनकही/शिक्षा प्रणाली की जर्जर नींव
संस्कृति/ मंडई खुशियों का मेला- त्रिजुगी कौशिक
व्यक्तित्व/हम साथ साथ हैं'मिशेल' बराक ओबामा की जिंदगी का प्यार- इलेन क्लिफ्ट
कलाकार /चित्रकला-मनोभावों का संप्रेषण करते....
खोज/विज्ञान एक कीड़ा पेड़ की टहनी जैसा? -स्रोत
मुलाकात/साहित्यकार हिन्दी के दुर्गम संसार में 'उदय प्रकाश' -विनोद साव
मुद्दा/हमला आतंकवाद! चोला बदल रहा है -डॉ. महेश परिमल
पर्यावरण/परंपरा हमारे लोक देवता "वृक्ष" -डॉ. खुशालसिंह पुरोहित
गजलें 1. सिलसिला 2. अफसाना- राजेश उत्साही
स्मरण/जन्म शताब्दी वर्ष दुर्गा भाभी- अंग्रेजी सरकार की..-आकांक्षा यादव
पुरातन/वास्तु शिल्प -हिमाचल की पहाडिय़ों में भी है एक एलोरा-प्रिया आनंद
विमर्श/समाचार पत्र जिम्मेदार मीडिया का गढ़ छत्तीसगढ़- जयराम दास
लघुकथाएं 1. और रजाई ओढ़ा दी 2. मैं कैसे पढूं ? - सुकेश साहनी
अभियान/मुझे भी आता है गुस्सा उफ... ये मौजा ही मौजा - डॉ. प्रतिमा चंद्राकर
इस अंक के रचनाकार
आपके पत्र/इन बाक्स
रंग बिरंगी दुनिया 1. सफेद दाढ़ी वालों.. 2. शुद्ध पेयजल चाहिए तो...3. मल्टी स्टोरी कब्रिस्तान !
किशोर कुमार के ...
स्वागत है/रचनाकारो से अनुरोध

3 Comments:

cg4bhadas.com said...

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाए, अलविदा २००८ और
2009 के आगमन की हार्दिक शुभकामनायें स्‍वीकार करे,
Welcome to the Cg Citizen Journalism
The All Cg Citizen is Journalist"!
ravikant

cg4bhadas.com said...
This comment has been removed by a blog administrator.
cg4bhadas.com said...
This comment has been removed by a blog administrator.

एक बच्चे की जिम्मेदारी आप भी लें

अभिनव प्रयास- माटी समाज सेवी संस्था, जागरुकता अभियान के क्षेत्र में काम करती रही है। इसी कड़ी में गत कई वर्षों से यह संस्था बस्तर के जरुरतमंद बच्चों की शिक्षा के लिए धन एकत्रित करने का अभिनव प्रयास कर रही है। बस्तर कोण्डागाँव जिले के कुम्हारपारा ग्राम में बरसों से आदिवासियों के बीच काम रही 'साथी समाज सेवी संस्था' द्वारा संचालित स्कूल 'साथी राऊंड टेबल गुरूकुल' में ऐसे आदिवासी बच्चों को शिक्षा दी जाती है जिनके माता-पिता उन्हें पढ़ाने में असमर्थ होते हैं। इस स्कूल में पढऩे वाले बच्चों को आधुनिक तकनीकी शिक्षा के साथ-साथ परंपरागत कारीगरी की नि:शुल्क शिक्षा भी दी जाती है। प्रति वर्ष एक बच्चे की शिक्षा में लगभग चार हजार रुपये तक खर्च आता है। शिक्षा सबको मिले इस विचार से सहमत अनेक जागरुक सदस्य पिछले कई सालों से माटी समाज सेवी संस्था के माध्यम से 'साथी राऊंड टेबल गुरूकुल' के बच्चों की शिक्षा की जिम्मेदारी लेते आ रहे हैं। प्रसन्नता की बात है कि नये साल से एक और सदस्य हमारे परिवार में शामिल हो गए हैं- रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' नई दिल्ली, नोएडा से। पिछले कई वर्षों से अनुदान देने वाले अन्य सदस्यों के नाम हैं- प्रियंका-गगन सयाल, मेनचेस्टर (यू.के.), डॉ. प्रतिमा-अशोक चंद्राकर रायपुर, सुमन-शिवकुमार परगनिहा, रायपुर, अरुणा-नरेन्द्र तिवारी रायपुर, डॉ. रत्ना वर्मा रायपुर, राजेश चंद्रवंशी, रायपुर (पिता श्री अनुज चंद्रवंशी की स्मृति में), क्षितिज चंद्रवंशी, बैंगलोर (पिता श्री राकेश चंद्रवंशी की स्मृति में)। इस प्रयास में यदि आप भी शामिल होना चाहते हैं तो आपका तहे दिल से स्वागत है। आपके इस अल्प सहयोग से एक बच्चा शिक्षित होकर राष्ट्र की मुख्य धारा में शामिल तो होगा ही साथ ही देश के विकास में भागीदार भी बनेगा। तो आइए देश को शिक्षित बनाने में एक कदम हम भी बढ़ाएँ। सम्पर्क- माटी समाज सेवी संस्था, रायपुर (छ. ग.) 492 004, मोबा. 94255 24044, Email- drvermar@gmail.com

-0-

लेखकों सेः उदंती.com एक सामाजिक- सांस्कृतिक वेब पत्रिका है। पत्रिका में सम- सामयिक लेखों के साथ पर्यावरण, पर्यटन, लोक संस्कृति, ऐतिहासिक- सांस्कृतिक धरोहर से जुड़े लेखों और साहित्य की विभिन्न विधाओं जैसे कहानी, व्यंग्य, लघुकथाएँ, कविता, गीत, ग़ज़ल, यात्रा, संस्मरण आदि का भी समावेश किया गया है। आपकी मौलिक, अप्रकाशित रचनाओं का स्वागत है। रचनाएँ कृपया Email-udanti.com@gmail.com पर प्रेषित करें।

उदंती.com तकनीकि सहयोग - संजीव तिवारी

टैम्‍पलैट - आशीष