March 18, 2010

उदंती.com- मार्च 2010


वर्ष 2, अंक 8, मार्च 2010
**************
स्त्रियों की अवस्था में सुधार न होने तक विश्व के कल्याण का कोई मार्ग नहीं। किसी पक्षी का एक पंख के सहारे उडऩा निंतांत असंभव है।
-स्वामी विवेकानंद
**************
अनकही: समानता का अधिकार

Labels:

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home