November 20, 2009

उदंती.com-नवम्बर 2009


वर्ष 2, अंक 4, नवम्बर 2009
**************
मेरा विश्वास है कि वास्तव में महान व्यक्ति का पहला लक्षण नम्रता है और कुछ नहीं।
-जॉन रस्किन
**************
अनकही: भ्रष्टाचार और गरीबी का घातक गठबंधन
पर्यावरण:सब कुछ पाने की लालसा - बालसुब्रमण्यम लक्ष्मीनारायण
आपदा प्रबंधन: हादसों की आग कब बुझेगी? - संतोष कुमार
रंगमंच:बहादुर कलारिन: एक जीवंत दस्तावेज - मुन्ना कुमार पांडे
यादें :धरोहर बन गई हीरामन की बैलगाड़ी - उदंती फीचर्स
पुरातन:सिंघनपुर के शैलचित्र - उदंती फीचर्स
राज्योत्सव: छत्तीसगढ़ निर्माण की निरंतर बहती एक नदी - स्वराज्य कुमार
वन जीवन:हम नहीं देख पाएंगे, चीते की निराली चाल - प्रमोद भार्गव
संस्मरण: जंगल में मिलती थी उन्हें लिखने की प्रेरणा - रूपसिंह चन्देल
खोज: पहली प्लास्टिक सर्जरी भारत में की गई थी
शाकाहार : खान-पान की आदत बदल कर बचाएं पर्यावरण -एस. अनंतनारायणन
लघुकथाएं: गरीबों का मसीहा, सुख की परिभाषा - आशा तनेजा
21 वीं सदी के व्यंग्यकार: संस्कृति की सुनामी लहर - संतोष खरे
कहानी: महत्त्वाकांक्षी फूल- खलील जिब्रान
कविता: मुझे है अनुभव - जीवन यदु
अभियान: हैलो जी ...- रजत आनंद
इस अंक के लेखक - वाह भई वाह
आपके पत्र/ इन बाक्स - जरा सोचें
रंग बिरंगी दुनिया
************** ************** **************


Labels:

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home