December 13, 2008

इस अंक के रचनाकार

डॉ. खुशालसिंह पुरोहित


जन्म तिथि - 10 जून 1955 को म.प्र. में एक किसान परिवार में। शिक्षा - एम.ए.(हिन्दी), पी.एच.डी.(पत्रकारिता),डी.लिट् (पर्यावरण) कार्य - पर्यावरण संरक्षण, पर्यावरण जागरुकता और पर्यावरण शिक्षा के क्षैत्र में पिछले ढाई दशक से कार्यरत है, 1987 पहली हिन्दी पर्यावरण पत्रिका पर्यावरण डाइजेस्ट का प्रकाशन। पत्रकारिता - सन् 1972- साप्ताहिक मालव समाचार में प्रतिनिधि, 1974 - दैनिक स्वदेश इंदौर में जिला प्रतिनिधि, 1975-हिन्दुस्तान समाचार संवाद एजेंसी में जिला संवाददाता, 1975 - दैनिक इंदौर समाचार में अति.प्रतिनिधि, 1977-दैनिक स्वदेश इंदौर में सह-संपादक, हिन्दी के प्रतिष्ठित पत्रों में सम-सामयिक विषयों पर अनेक लेख प्रकाशित। पता- 19 पत्रकार कॉलोनी, रतलाम, म.प्र. 457001

फ़ोन (07412) 231546, मोबाइ: 9425078098

डॉ. प्रतिमा चन्द्राकर



शिक्षा- एमएससी, पीएचडी (केमेस्ट्री) संप्रति: प्रोफेसर, रसायन शास्त्र विभाग, शासकीकय विज्ञान महाविद्यालय, रायपुर

पता- एफ-2, पेंशन बाड़ा रायपुर (छ.ग.)

mail id- pchandraker@yahoo.com
जयराम दास



जन्म - 7 फरवरी 1977 शिक्षा - पत्रकारिता में स्नातकोत्तर-माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय भोपाल कार्य- भाजपा की मासिक पत्रिका दीप कमल में समाचार संपादक, विभिन्न समाचार पत्रों में अनेक आलेख प्रकाशित विशेष - इंग्लिश, संस्कृत व मैथिली भाषाओं का ज्ञान। पता - एकात्म परिसर रजबंधा मैदान रायपुर (छ.ग.) mail id- jay7feb@gmail.com


सुकेश साहनी



जन्म तिथि - 5 सितंबर 1956 लखनऊ

शिक्षा- एम. एस-सी (जियोलॉजी) तथा डीआईआईटी (एप्लाइड हाइड्रॉलॉजी) मुंबई। कार्यक्षेत्र- उपन्यास, कहानी, लघुकथा तथा बालकथाओं का लेखन। लगभग प्रत्येक हिंदी पत्र-पत्रिका में प्रकाशित। लघुकथा की विकास यात्रा में महत्त्वपूर्ण योगदान। प्रकाशित कृतियां - लघुकथा संग्रह-डरे हुए लोग (पंजाबी, गुजराती, मराठी व अंग्रेज़ी में भी ) ठंडी रज़ाई (अंग्रेज़ी व पंजाबी में ) कुछ लघुकथाएं जर्मन भाषा में अनूदित।

अनुवाद- ख़लील जिब्रान की लघुकथाएं, रोशनी कहानी पर दूरदर्शन के लिए टेलीफिल्म का निर्माण, संपादन- लघुकथाओं के आधे दर्जन से अधिक संकलनों का संपादन सम्प्रति- भूगर्भ जल विभाग में हाइड्रोलॉजिस्ट । पता- 193/ 21, सिविल लाइंस , बरेली -243001

mail id- sahnisukesh@gmail.com

प्रिया आनंद



जन्म जनवरी 1950 फैजाबाद उत्तर प्रदेश, शिक्षा एम. ए. हिंदी साहित्य, लेखन- 36 वर्षों से लेखन में सक्रिय। अब तक 260 के लगभग कहानियां, लेख, विभिन्न पत्र- पत्रिकाओं में प्रकाशित। कहानी संग्रह- मोहब्बत का पेड़ प्रकाशित। पत्रकारिता- हिमाचल के दैनिक पत्र दिव्य हिमाचल में 9 वर्षों से फीचर एडिटर के पद पर कार्यरत। पता: दिव्य हिमाचल, पुराना मटौर कार्यालय, कांगड़ा पठानकोट मार्ग, कांगड़ा (हिमाचल प्रदेश)176001

त्रिजुगी कौशिक



शिक्षा - इंटरमीडियेट । प्रकाशन- ओ जंगल की प्यारी लडक़ी (कविता संग्रह) संपादन - बस्तर- अतीत से आगत- संदर्भ ग्रंथ, सूत्र साहित्यिक पत्रिका में संपादन सहयोग, पं. बाल गंगाधर स्मृति सम्मान, सूत्र साहित्यिक सांस्कृतिक संस्था में सचिव। विगत 20 वर्षों से कविता, आलेख, छायाचित्रों का दैनिक समाचार पत्रों एवं साक्षात्कार, नया ज्ञानोदय, अक्षरा परिवेश, सूत्र, सर्वनाम, वागर्थ सहित विभिन्न साहित्यिक पत्रिकाओं में कविता का प्रकाशन। संप्रति- जनसंपर्क संचालनालय रायपुर में मुख्य छायाचित्रकार। मोबाइ: 9826666657

राजेश उत्साही

जन्म- 30 अगस्त, 1958, मिसरोद, भोपा, मप्र शिक्षा- राजनीतिशास्त्र, समाजशास्त्र तथा हिंदी साहित्य में स्नातक, समाजशास्त्र में स्नातकोत्तर। कार्य - मप्र की अग्रणी शैक्षिक संस्था एकव्य में 1982 से कार्यरत। वर्तमान में एकव्य में वरिष्ठ संपादक। एकव्य द्वारा संचालित विज्ञान एवं तकनॉलोजी फीचर सर्विस 'स्रोत' में प्रबंध संपादक, द्विमासिक शैक्षणिक पत्रिका 'शैक्षणिक संदंर्भ में संपादन सहयोग। प्रकाशन - नन्हा- कहानी, खट्टा-मीठा: फिपि बुक, कौन कहां से आए जी- कविता पोस्टर, प्रज्ञा- सांपा द्वारा प्रकाशित घुकथा संग्रह 'स्वरों का विद्रोह', 'आलू मिर्ची चाय जी' व 'खिडक़ी वाला पेट' कविता एनसीईआरटी की पांचवीं कक्षा की पर्यावरण अध्ययन पाठ्यपुस्तक में सम्मिति। पता- ई-7/58,अशोका हाउसिंग सोसायटी, अरेरा कालोनी, भोपाल, मप्र, पिन-462016। फोन : 0775- 2422795, mobil : 91-09893663677

mail id- utsahi@gmail.com

0 Comments:

एक बच्चे की जिम्मेदारी आप भी लें

अभिनव प्रयास- माटी समाज सेवी संस्था, जागरुकता अभियान के क्षेत्र में काम करती रही है। इसी कड़ी में गत कई वर्षों से यह संस्था बस्तर के जरुरतमंद बच्चों की शिक्षा के लिए धन एकत्रित करने का अभिनव प्रयास कर रही है। बस्तर कोण्डागाँव जिले के कुम्हारपारा ग्राम में बरसों से आदिवासियों के बीच काम रही 'साथी समाज सेवी संस्था' द्वारा संचालित स्कूल 'साथी राऊंड टेबल गुरूकुल' में ऐसे आदिवासी बच्चों को शिक्षा दी जाती है जिनके माता-पिता उन्हें पढ़ाने में असमर्थ होते हैं। इस स्कूल में पढऩे वाले बच्चों को आधुनिक तकनीकी शिक्षा के साथ-साथ परंपरागत कारीगरी की नि:शुल्क शिक्षा भी दी जाती है। प्रति वर्ष एक बच्चे की शिक्षा में लगभग चार हजार रुपये तक खर्च आता है। शिक्षा सबको मिले इस विचार से सहमत अनेक जागरुक सदस्य पिछले कई सालों से माटी समाज सेवी संस्था के माध्यम से 'साथी राऊंड टेबल गुरूकुल' के बच्चों की शिक्षा की जिम्मेदारी लेते आ रहे हैं। प्रसन्नता की बात है कि नये साल से एक और सदस्य हमारे परिवार में शामिल हो गए हैं- रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' नई दिल्ली, नोएडा से। पिछले कई वर्षों से अनुदान देने वाले अन्य सदस्यों के नाम हैं- प्रियंका-गगन सयाल, मेनचेस्टर (यू.के.), डॉ. प्रतिमा-अशोक चंद्राकर रायपुर, सुमन-शिवकुमार परगनिहा, रायपुर, अरुणा-नरेन्द्र तिवारी रायपुर, डॉ. रत्ना वर्मा रायपुर, राजेश चंद्रवंशी, रायपुर (पिता श्री अनुज चंद्रवंशी की स्मृति में), क्षितिज चंद्रवंशी, बैंगलोर (पिता श्री राकेश चंद्रवंशी की स्मृति में)। इस प्रयास में यदि आप भी शामिल होना चाहते हैं तो आपका तहे दिल से स्वागत है। आपके इस अल्प सहयोग से एक बच्चा शिक्षित होकर राष्ट्र की मुख्य धारा में शामिल तो होगा ही साथ ही देश के विकास में भागीदार भी बनेगा। तो आइए देश को शिक्षित बनाने में एक कदम हम भी बढ़ाएँ। सम्पर्क- माटी समाज सेवी संस्था, रायपुर (छ. ग.) 492 004, मोबा. 94255 24044, Email- drvermar@gmail.com

-0-

लेखकों सेः उदंती.com एक सामाजिक- सांस्कृतिक वेब पत्रिका है। पत्रिका में सम- सामयिक लेखों के साथ पर्यावरण, पर्यटन, लोक संस्कृति, ऐतिहासिक- सांस्कृतिक धरोहर से जुड़े लेखों और साहित्य की विभिन्न विधाओं जैसे कहानी, व्यंग्य, लघुकथाएँ, कविता, गीत, ग़ज़ल, यात्रा, संस्मरण आदि का भी समावेश किया गया है। आपकी मौलिक, अप्रकाशित रचनाओं का स्वागत है। रचनाएँ कृपया Email-udanti.com@gmail.com पर प्रेषित करें।

उदंती.com तकनीकि सहयोग - संजीव तिवारी

टैम्‍पलैट - आशीष