July 11, 2010

इस अंक के लेखक

एलएन शीतल
जन्म- 7 अगस्त 1958। शिक्षा एम.ए. हिन्दी- केयूके हरियाणा से, बी.जे. एमडी यूनिवर्सिटी रोहतक से। गत 30 वर्षो से देश के विभिन्न समाचार पत्रों में कार्य का अनुभव। दैनिक समाचार पत्रों नवभारत (भोपाल), अमर उजाला (उत्तराखंड, देहरादून), भास्कर (ग्वलियर, भोपाल, कोटा), हरिभूमि (रायपुर) में संपादक एवं समूह संपादक के पदों पर कार्य। सामाजिक, राजनीतिक एवं न्यायिक क्षेत्र से जुड़ी समस्याओं पर निरंतर लेखन। आकाशवाणी की पत्रकारिता से जुड़ी परियोजना पर शृंखलाबद्ध लेख। मानवीय अंतरमन का विशेष अध्ययन। संप्रति- संपादक, राष्ट्रीय सहारा, देहरादून (उत्तराखंड)
स्थायी पता- 12, टाइप-4, सेक्टर-बी, पीपलानी, भोपाल 462021
मोबाइल- ९५५७२९०००६, ९३०१८२०३१५, Email: lnshital@rediffmail.com
के. पी. सक्सेना 'दूसरे'
10 मार्च 1947 सतना मध्यप्रदेश में जन्म। शिक्षा- एम.एस.सी., एम.ए, एल.एल.बी। प्रकाशित कृतियां- नूतन प्रसून, शायद बात तुम्हारे मन की (काव्य संग्रह), एक महंगा प्रायश्चित (कथा संग्रह), परत-पर-परत (लघुकथाएं) तथा अनेक रचनाएं पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित। प्रसारण- आकाशवाणी से कहानियां, टेली प्ले निष्कर्ष रायपुर दूरदर्शन से, नाट्य निर्देशन एवं मंचन भोपाल व सतना में, कतिपय कवि गोष्ठी सम्मेलन व नेशनल बुक ट्रस्ट नई दिल्ली के स्वर्ण जयंती के अवसर पर काव्य पाठ। सम्मान- अस्मिता, शंखनाद 2004, हिन्दी प्रतिष्ठा सम्मान 2006, तथा बख्शी सृजन पीठ से सम्मानित।
संप्रति: अध्यक्ष, छत्तीसगढ़ सीनियर सिटीजन्स।
पता- श्री शांतिनाथ नगर, टाटीबंध, रायपुर (छत्तीसगढ़) 492099
मोबाइल- 09584025175
Email: kashipsaxsena@yahoo.co.in
डॉ. श्याम सखा श्याम
जन्म- 28 अगस्त 1948 रोहतक । शिक्षा- एमबीबीएस, एफसीजीपी, एलएलबी। चिकित्सा सेवा के अतिरिक्त पठन, लेखन, छायांकन एवं घुमक्कड़ी। प्रकाशित पुस्तकें- 3 उपन्यास, 3 कहानी संग्रह, 4 कविता संग्रह, 1 गजल संग्रह, 1 लघुकथा संग्रह, एक दोहा सतसई तथा 1 लोक कथा संग्रह। अनेक पुरस्कार एवं सम्मान- पं. लखमी चंद पुरस्कार (हरियाणा साहित्य अकादमी का लोक- साहित्य व लोक संस्कृति पर सर्वोच्च पुरस्कार), 6 पुस्तकें व 5 कहानियां हिन्दी व पंजाबी अकादमी द्वारा पुरस्कृत। पद्मश्री मुकुटधर पांडेय (छत्तीसगढ़ सृजन सम्मान 2007), कथा संग्रह अकथ हेतु अंबिका प्रसाद दिव्य रजत अलंकरण 2007 में, कथा- बिम्ब कथा पुरस्कार मुम्बई, राष्ट्रधर्म कथा पुरस्कार 2005 लखनऊ।
सम्प्रति: हरियाणा के रोहतक नगर में निजी नर्सिंग होम चला रहे है।
Email: shyam.skha@gmail.com

0 Comments:

लेखकों से... उदंती.com एक सामाजिक- सांस्कृतिक वेब पत्रिका है। पत्रिका में सम- सामयिक लेखों के साथ पर्यावरण, पर्यटन, लोक संस्कृति, ऐतिहासिक- सांस्कृतिक धरोहर से जुड़े लेखों और साहित्य की विभिन्न विधाओं जैसे कहानी, व्यंग्य, लघुकथाएँ, कविता, गीत, ग़ज़ल, यात्रा, संस्मरण आदि का भी समावेश किया गया है। आपकी मौलिक, अप्रकाशित रचनाओं का स्वागत है। रचनाएँ कृपया Email-udanti.com@gmail.com पर प्रेषित करें।
माटी समाज सेवी संस्था का अभिनव प्रयास माटी समाज सेवी संस्था, समाज के विभिन्न जागरुकता अभियान के क्षेत्र में काम करती है। पिछले वर्षों में संस्था ने समाज से जुड़े विभिन्न विषयों जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य,पर्यावरण, प्रदूषण आदि क्षेत्रों में काम करते हुए जागरुकता लाने का प्रयास किया है। माटी संस्था कई वर्षों से बस्तर के जरुरतमंद बच्चों की शिक्षा के लिए धन एकत्रित करने का अभिनव प्रयास कर रही है। बस्तर कोण्डागाँव जिले के कुम्हारपारा ग्राम में “साथी समाज सेवी संस्था” द्वारा संचालित स्कूल “साथी राऊंड टेबल गुरूकुल” में ऐसे आदिवासी बच्चों को शिक्षा दी जाती है जिनके माता-पिता उन्हें पढ़ाने में असमर्थ होते हैं। प्रति वर्ष एक बच्चे की शिक्षा में लगभग चार हजार रुपए तक खर्च आता है। शिक्षा सबको मिले इस विचार से सहमत अनेक लोग पिछले कई सालों से उक्त गुरूकुल के बच्चों की शिक्षा की जिम्मेदारी लेते आ रहे हैं। अनुदान देने वालों में शामिल हैं- अनुदान देने वालों में शामिल हैं- प्रियंका-गगन सयाल, मेनचेस्टर (U.K.), डॉ. प्रतिमा-अशोक चंद्राकर, रायपुर, सुमन-शिवकुमार परगनिहा, रायपुर, अरुणा-नरेन्द्र तिवारी, रायपुर, राजेश चंद्रवंशी, रायपुर (पिता श्री अनुज चंद्रवंशी की स्मृति में), क्षितिज चंद्रवंशी, बैंगलोर (पिता श्री राकेश चंद्रवंशी की स्मृति में)। इस प्रयास में यदि आप भी शामिल होना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। आपके इस अल्प सहयोग से स्कूल जाने में असमर्थ बच्चे शिक्षित होकर राष्ट्र की मुख्य धारा में शामिल तो होंगे ही साथ ही देश के विकास में भागीदार भी बनेंगे। तो आइए देश को शिक्षित बनाने में एक कदम हम भी बढ़ाएँ। सम्पर्क- माटी समाज सेवी संस्था, रायपुर (छ.ग.) मोबा. 94255 24044, Email- drvermar@gmail.com

उदंती.com तकनीकि सहयोग - संजीव तिवारी

टैम्‍पलैट - आशीष