June 12, 2009

इस अंक के रचनाकार

अविनाश वाचस्पति
14 दिसंबर 1958 का जन्म। दिल्ली विश्वविद्यालय से कला स्नातक। सभी साहित्यिक विधाओं में समान रूप से लेखन। व्यंग्य, कविता एवं फिल्म पत्रकारिता विषयक आलेख प्रमुखता से पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित। हरियाणवी फीचर फिल्म 'गुलाबो' 'छोटी साली' और 'जर, जोरू और जमीन' में प्रचार और जनसंपर्क । नेत्रदान पर बनी हिंदी टेली फिल्म 'ज्योति संकल्प' में सहायक निर्देशक के तौर पर कार्य । वर्तमान में फिल्म समारोह निदेशालय, सूचना और प्रसारण मंत्रालय, नई दिल्ली से संबद्ध। पता- साहित्यकार सदन, पहली मंजिल, 195 सन्त नगर, नई दिल्ली 110065  मोबाइल 09868166586
ईमेल-avinashvachaspati@gmail.com
मुकुन्द कौशल
7 नवम्बर 1947 को दुर्ग के एक गांधीवादी गुजराती परिवार में जन्में मुकुन्द कौशल हिन्दी, छत्तीसगढ़ी एवं उर्दू सहित गुजराती में भी लेखन करते हैं। देशभर की पत्र-पत्रिकाओं में 1960 से शताधिक रचनाएं प्रकाशित जिसमें प्रमुख सात काव्य संग्रह सहित 20 समवेत काव्य संकलनों में रचनाएं सम्मिलित। धारावाहिकों, टेलीफिल्मों व फीचर फिल्मों सहित 30 से अधिक ऑडियो एलबम्स के लिए गीत लेखन। 25 से अधिक पुरस्कार व सम्मान। सम्प्रति- स्वतंत्र लेखन
पता - एम-516, पद्मनाभपुर, दुर्ग- 491001 छत्तीसगढ़, मोबाइल - 093294-16167
नाजि़म नकवी
उत्तर प्रदेश के जिला रायबरेली, ऊंचाहार में जन्म। बीए इलाहाबाद से, शायरी का चस्का इसी शहर ने लगाया। अपने क़स्बे के नाम पर नाजि़म मुस्तफ़ाबादी के तख़ल्लुस से लिखना शुरू किया। पत्रकार बनने का सपना कभी नहीं टूटा, घरवालों की नाराजग़ी के बावजूद भी नहीं। छोटे से साप्ताहिक समाचार-पत्र इलाहाबाद केशरी के संपादन से जेब ख़र्च की कमी को पूरा किया। अपने क़स्बे से एक शाम का दैनिक समाचार 'ऊंचाहार मेलÓ की शुरूआत की जो सिर्फ 45 अंक के बाद बंद करना पड़ा।  दिल्ली आए जहां विनोद दुआ की शरण में जगह मिल गई, स्क्रिप्ट राइटर के तौर पर। तब से लेकर आजतक, पिछली एक दहाई से टीवी और फि़ल्मों की दुनिया में कुछ सार्थक कर पाने की जुगत में हैं।
पता- 2nd Floor, Plot No. 634, Sector 1, Vaishali, Ghaziabad
   Blog - http://awaazkepremi.blogspot.com
नितीन जानकीदास देसाई
27 जुलाई 1967 को जन्म। पुणे विद्यापीठ से एम ए हिंदी (अनुवाद), बैंकिग और सूचना तकनीक विषयों पर लेखन, मानव संबंध और स्वभाव पर कविताएं, वर्तमान में बैंक में अधिकारी।
 ईमेल- nitin67j@gmail.com

डॉ. सिद्धार्थ खरे


1977 से पत्रकारिता (प्रिंट व टेलीविजन) 2002 में बेस्ट रिपोर्टिंग के लिए माधव राव सप्रे स्मृति समाचार पत्र संग्रहालय- शोध संस्थान भोपाल द्वारा स्थापित राज्य स्तरीय जगदीश प्रसाद चतुर्वेदी अवार्ड। मध्यप्रदेश असेंबली प्रेस एडवाइजरी गैलरी के पूर्व सदस्य। मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के पूर्व जनरल सेके्रटरी ।
ईमेल-  khare.siddhartha@gmail.com

.................
वाह भई वाह

एक आईसक्रीम वाला बार-बार चिल्ला रहा था, 'एक बार खाएगा तो हजार बार खाएगा'।
यह सुन कर पास खड़े लड़के से रहा नहीं गया। वह उसकी नकल करते हुए बोला, 'मुफ्त में खिलाएगा तो लाख बार खाएगा'।
......

Labels:

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home