August 25, 2011

नाम है इसका ही जिंदगी

- देवमणि पाण्डेय

माँग ले हम तबस्सुम किसी से
दर्द ले लें किसी से कभी
लम्हा लम्हा लुटाएं ख़ुशी
नाम है इसका ही जिंदगी

क्या हुआ जेब खाली अगर
हमको इसका कोई गम नहीं
गम की दौलत अगर पास है
ये अमीरी से कुछ कम नहीं

यह जो काँटों भरी है डगर
इसको फूलों से हम पाट दें
पास दौलत है जो प्यार की
इसको दुनिया में हम बाँट दें

कह रही फूल से हर कली
आँसुओं में छुपी है ख़ुशी
रिश्ता जिंदा रहे प्यार का
दर्द ले लें, लुटा दें ख़ुशी
संपर्क: ए-2, हैदराबाद एस्टेट, नेपियन सी रोड, मालाबार हिल, मुम्बई - 400 036, मो. 98210-82126
---

Labels: ,

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home