उदंती.com को आपका सहयोग निरंतर मिल रहा है। कृपया उदंती की रचनाओँ पर अपनी टिप्पणी पोस्ट करके हमें प्रोत्साहित करें। आपकी मौलिक रचनाओं का स्वागत है। धन्यवाद।

Aug 26, 2010

उदंती.com, अगस्त 2010

उदंती.com,
वर्ष 3, अंक 1, अगस्त 2010
**************
इतिहास के अध्ययन से मनुष्य बुद्धिमान बनता है।
- बेकन
**************

2 comments:

Dudhwa Live said...

बेहतरीन आलेखों व चित्रों के साथ बहुत सुन्दर अंक है उदन्ती पत्रिका का!

जवाहर चौधरी said...

डाॅ रत्ना वर्मा जी ,
उदंति का नया अंक देखा । बहुत सुन्दर है हमेशा की तरह ।
पीपली लाइव पर तो इस समय दुनिया भर की निगाह है ।
आपने नए ढंग से प्रकाश डाला है । चोला माटी के ... पूरा पढ कर आनंद आया ।
अन्य सामग्री में डिजायनर टंकी अच्छी लगी ।
चित्रकार महेशचंद्र शर्मा का काम बहुत सुन्दर है ।
बधाई ।