July 05, 2014

उदंती.com जून-जुलाई 2014

उदंती.com
जून-जुलाई 2014


पर्यावरण पर विशेष अंक


प्रकृति को बुरा-भला न कहो। 
उसने अपना कर्त्तव्य पूरा किया
तुम अपना करो।     

 - मिल्टन



  
       
आपके पत्र/ मेल बॉक्स   

Labels:

3 Comments:

At 28 July , Blogger बस्तर की अभिव्यक्ति जैसे कोई झरना said...

यह एक संग्रहणीय अंक है । पर्यावरण पर और भी अंक निकलने चाहिये ।

 
At 29 July , Blogger Kailash Sharma said...

बहुत सुन्दर संकलन...बधाई

 
At 02 August , Blogger प्रियंका गुप्ता said...

कुछ व्यस्तता के कारण आज ही ये अंक देखा...| अभी तो सरसरी निगाह से, पर फिर भी इतना कहूंगी कि ये एक संग्रहणीय अंक है...| हार्दिक बधाई...|

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home