January 29, 2011

प्रेरक

नहीं, ये तुम्हारा काम है
द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नाजियों ने पेरिस को अपने कब्जे में ले लिया था। पिकासो के पेरिस वाले अपार्टमेन्ट में एक दिन खुफिया गेस्टापो पुलिसवाले आ घुसे। उन्होंने कमरे की दीवार के सहारे खड़ी पेंटिंग 'गेर्निका' को देखा जिसमें स्पेनिश गृहयुद्ध के दौरान जर्मन लड़ाकू विमानों द्वारा बास्क राजधानी पर बमबारी का चित्रण किया गया है।
एक पुलिस अधिकारी ने 'गेर्निका' को देखकर पिकासो से पूछा 'ये तुम्हारा काम है?'
'नहीं'
पिकासो ने कहा - 'ये तुम्हारा काम है '
(www.hindizen.com से )

Labels:

1 Comments:

At 31 January , Blogger चंद्रमौलेश्वर प्रसाद said...

कितने ज़िंदादिल लोग थे जो विषम परिस्थियों में भी अपना सेंस आफ़ ह्यूमर नहीं खॊते थे :)

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home