May 24, 2010

इस अंक के लेखक

कृष्ण कुमार मिश्र

जन्म- 11-08-1977, स्कूली शिक्षा मैनहन की प्राथमिक पाठशाला में, मितौली के राजा लोने सिंह उच्चतर माध्यमिक विद्यालय से कक्षा आठ, इण्टर कालेज लखीमपुर शहर के धर्म सभा में, विज्ञान स्नातक की शिक्षा युवराज दत्त महाविद्यालय लखीमपुर से, एशिया के विशालतम महाविद्यालय दयानन्द एंग्लों वैदिक कालेज से परास्नातक की शिक्षा जन्तुविज्ञान में प्रथम श्रेणी से, यहीं से शुरूवात हुई प्रकृति का अध्ययन करने की उत्कंठा अत: पी.एचडी. में दाखिला लेकर मैं चल पड़ा अपने दुधवा जंगल की तरफ। यात्रा जारी है।
फिलवक्त वन्य जीवन के शोधार्थी है, पर्यावरण व जीव-जन्तु सरंक्षण को समाज की मुख्य धारा में लाने के लिए प्रयासरत, अखबारों, पत्रिकाओं, और वैज्ञानिक जरनल्स में लेखन कार्य, अध्यापन के साथ-साथ किसान परिवार से होने के कारण खेती जैसा सुन्दर रचनात्मक कार्य भी। फोटोग्राफी का शौक।
पता- 77, कैनाल रोड, शिव कालोनी,
लखीमपुर खीरी-262701 उत्तर प्रदेश
Email: dudhwajungles@gmail.com, www.dudhwalive.com
गंभीर सिंह पालनी
जन्म 14 अप्रैल 1958 नैनीताल जनपद शिक्षा - कुमांऊ विश्वविद्यालय नैनीताल एम.ए. (हिन्दी) पहली कहानी नवम्बर 1978 में कहानी पत्रिका संपादक श्रीपतराय ) में प्रकाशित। उसके बाद देश भर की विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में कहानियां, कविताएं, लघुकथा का प्रकाशन। कहानी संग्रह मेंढ़क तथा कविता संग्रह नाग कन्या के किले में प्रकाशित। मेंढ़क पुस्तक के लिए अम्बिका प्रसाद दिव्य स्मृति साहित्य सम्मान। कादम्बिनी की अखिल भारतीय कहानी प्रतियोगिता में कहानी बुनने वाली उंगलियां पुरस्कृत। पिछले ढेड़ दशक की चुप्पी के बाद पुन: सक्रिय। पता- प्रबंधक, नैनीताल बैंक लि। प्रधान कार्यालय,सेवन ओक्स मल्लीताल, नैनीताल - 263 001
मोबाइल- 09897849737 Email- palni_nainital@yahoo.in
रामेन्द्र जनवार
खीरी जनपद के ओयल गांव के निवासी व सामाजिक कार्यकर्ता रामेन्द्र जनवार सन् 1985-86 में लखनऊ विश्वविद्यालय के महामंत्री रह चुके हैं, सन् 1985 में ही मास्को रूस में आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय युवा महोत्सव में भागीदारी की, आंदोलनी विचारधारा से जुड़े हैं। जितिन प्रसाद केन्द्रीय राज्यमंत्री, पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस के मीडिया प्रभारी हैं। मोबाइल- 09838980878 Email: ramendra.janwar78@rediffmail.com
मनोज राठौर
मैं मनोज कुमार राठौर भारत के राज्य मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित एक समाचार पत्र में अपराध संवाददाता हूं। मैंने एमजे (मास्टर आफ जर्नलिज्म) में अखिल भारतीय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। आगे सोचा है कि पत्रकारिता में पीएचडी की जाए। www.parkinazar.blogspot.com नाम से मेरा ब्लाग है।
पता- मकान नंबर 503/1 जेपी नगर छोला रोड भोपाल -462001
Email: manoj.rathore8@gmail.कॉम, मोबाइल - 9893202355

0 Comments:

एक बच्चे की जिम्मेदारी आप भी लें

अभिनव प्रयास- माटी समाज सेवी संस्था, जागरुकता अभियान के क्षेत्र में काम करती रही है। इसी कड़ी में गत कई वर्षों से यह संस्था बस्तर के जरुरतमंद बच्चों की शिक्षा के लिए धन एकत्रित करने का अभिनव प्रयास कर रही है। बस्तर कोण्डागाँव जिले के कुम्हारपारा ग्राम में बरसों से आदिवासियों के बीच काम रही 'साथी समाज सेवी संस्था' द्वारा संचालित स्कूल 'साथी राऊंड टेबल गुरूकुल' में ऐसे आदिवासी बच्चों को शिक्षा दी जाती है जिनके माता-पिता उन्हें पढ़ाने में असमर्थ होते हैं। इस स्कूल में पढऩे वाले बच्चों को आधुनिक तकनीकी शिक्षा के साथ-साथ परंपरागत कारीगरी की नि:शुल्क शिक्षा भी दी जाती है। प्रति वर्ष एक बच्चे की शिक्षा में लगभग चार हजार रुपये तक खर्च आता है। शिक्षा सबको मिले इस विचार से सहमत अनेक जागरुक सदस्य पिछले कई सालों से माटी समाज सेवी संस्था के माध्यम से 'साथी राऊंड टेबल गुरूकुल' के बच्चों की शिक्षा की जिम्मेदारी लेते आ रहे हैं। प्रसन्नता की बात है कि नये साल से एक और सदस्य हमारे परिवार में शामिल हो गए हैं- रामेश्वर काम्बोज 'हिमांशु' नई दिल्ली, नोएडा से। पिछले कई वर्षों से अनुदान देने वाले अन्य सदस्यों के नाम हैं- प्रियंका-गगन सयाल, मेनचेस्टर (यू.के.), डॉ. प्रतिमा-अशोक चंद्राकर रायपुर, सुमन-शिवकुमार परगनिहा, रायपुर, अरुणा-नरेन्द्र तिवारी रायपुर, डॉ. रत्ना वर्मा रायपुर, राजेश चंद्रवंशी, रायपुर (पिता श्री अनुज चंद्रवंशी की स्मृति में), क्षितिज चंद्रवंशी, बैंगलोर (पिता श्री राकेश चंद्रवंशी की स्मृति में)। इस प्रयास में यदि आप भी शामिल होना चाहते हैं तो आपका तहे दिल से स्वागत है। आपके इस अल्प सहयोग से एक बच्चा शिक्षित होकर राष्ट्र की मुख्य धारा में शामिल तो होगा ही साथ ही देश के विकास में भागीदार भी बनेगा। तो आइए देश को शिक्षित बनाने में एक कदम हम भी बढ़ाएँ। सम्पर्क- माटी समाज सेवी संस्था, रायपुर (छ. ग.) 492 004, मोबा. 94255 24044, Email- drvermar@gmail.com

-0-

लेखकों सेः उदंती.com एक सामाजिक- सांस्कृतिक वेब पत्रिका है। पत्रिका में सम- सामयिक लेखों के साथ पर्यावरण, पर्यटन, लोक संस्कृति, ऐतिहासिक- सांस्कृतिक धरोहर से जुड़े लेखों और साहित्य की विभिन्न विधाओं जैसे कहानी, व्यंग्य, लघुकथाएँ, कविता, गीत, ग़ज़ल, यात्रा, संस्मरण आदि का भी समावेश किया गया है। आपकी मौलिक, अप्रकाशित रचनाओं का स्वागत है। रचनाएँ कृपया Email-udanti.com@gmail.com पर प्रेषित करें।

उदंती.com तकनीकि सहयोग - संजीव तिवारी

टैम्‍पलैट - आशीष