July 25, 2012

पानी

- अख़्तर अली
युद्ध विशेषज्ञों का मानना है
अगला विश्व युद्ध पानी के लिये
हो सकता है।
युद्ध तय है
वजह तय होना बाकी है।
कोई वजह नहीं मिली
तो पानी तो है ही।
पानी के लिये होगा रक्तपात
पानी से लगेगी आग।
प्रेम पर पानी फिर जायेगा
पानी पर लकीर खींच दी जायेगी
लकीर बनेगी बहाना,
फिर होगा आरम्भ खून बहाना
पानी खून की तरह जम जाएगा
खून पानी की तरह बह जायेगा
धरती लहू से सींच दी जायेगी
लाशों की फसल अच्छी होगी।
किसी की आँखों से पानी टपक रहा होगा
किसी की आँखों का पानी सूख चूका होगा।
पानी के लिए युद्ध देख
पानी भी शर्म से
पानी पानी हो जायेगा।
पानीदार चेहरे गुम जायेगे
सभ्यता पानी में बह जाएगी
बाढ़ भंवर और सुनामी के बाद
विश्व के रंगमंच पर
नये रूप में प्रस्तुत होगा पानी।
रक्त से बुझेगी
पानी की प्यास
मस्तिष्क को पानी
कीचड़- कीचड़
कर देगा।
जब पानी के लिये युद्ध होगा
तब पानी चुल्लू भर पानी में डूब मरेगा।
युद्ध के बाद
शांति की अपील करते बच्चे
हाथ में तख्ती लिये
सड़कों पर निकलेंगे
जिस पर लिखा होगा
जल ही जीवन है।
प्रभु जिन्हें उम्मीद है
पानी के लिये युद्ध होगा
उनकी उम्मीदों पर
पानी फेर दो।

संपर्क- फजली अपार्टमेन्ट, आमानाका, रायपुर ( छत्तीसगढ़), मो. 09826126781 श्
Email-  akhterspritwala@yahoo.co.in

Labels: ,

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home