September 15, 2019

उदंती.com सितम्बर 2019

उदंती.com, सितम्बर 2019

वर्ष-12 अंक- 2

प्रकृति गति का उन्मेष है, तो संस्कृति उस गति की मर्यादा। संस्कृति का सामूहिक चेतनाशिष्टाचार और मनोभावों से मौलिक संबंध होता है।   - जयशंकर प्रसाद

     पर्व -त्योहार विशेष
                                                                               (संकलन)

Labels:

2 Comments:

At 16 October , Blogger Hemant Borkar said...

उपयोगी एवं ज्ञानवर्धक

 
At 29 December , Blogger विजय जोशी said...

Thanks very very much Dear Hemant. So nice of You

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home