उदंती.com को आपका सहयोग निरंतर मिल रहा है। कृपया उदंती की रचनाओँ पर अपनी टिप्पणी पोस्ट करके हमें प्रोत्साहित करें। आपकी मौलिक रचनाओं का स्वागत है। धन्यवाद।

Apr 6, 2021

उदंती.com, अप्रैल- 2021

वर्ष- 13, अंक- 7

दूसरों के जीवन में शामिल होना और दूसरों को अपने जीवन में शामिल करना ही संस्कृति है। 
- दादा धर्माधिकारी

 इस अंक में

अनकहीः  संवेदनाएँ अभी मरी नहीं हैं.... डॉ. रत्ना वर्मा
विश्व धरोहर दिवसः प्राचीन सभ्यताओं से जुड़ने का एक अवसर
धरोहरः छत्तीसगढ़ के बस्तर में बिखरे हैं ऐतिहासिक पुरावशेष
धरोहरः भगवान विष्णु का नारायणपाल मंदिर
जीवन शैलीः  ...चिंता तो 0.1 प्रतिशत की है - डॉ. सुशील जोशी
लघुकथाः चार हाथ - जानकी वाही
छह कविताएँः -आनन्द नेमा
संस्मरणः अंतिम उपहार - परमजीत कौर रीत’ 
गीतः वो देखें तो! - डॉ. ज्योत्स्ना शर्मा
व्यंग्यः हमरा लोकतंत्र खेला हौबे  - बी. एल. आच्छा
तीन ग़ज़लेंः - डॉ. गिरिराज शरण अग्रवाल  
कहानीः तलहटी -प्रेम गुप्तामानी
काव्यः तस्वीर जूते नहीं उतारती  - डॉ. कविता भट्ट
पुस्तकः  मिट्टी की सोंधी महक से सुवासित-प्रवासी मन - डॉ. शिवजी श्रीवास्तव
हाइकुः  पतझ - डॉ. महिमा श्रीवास्तव
लघुकथाः श्रद्धांजलि - सतीश दुबे
विरासतः पुरातात्विक अध्ययन में नए नज़रिए की ज़रूरत 
खोजः माया सभ्यता का महल खोजा गया -स्रोत फीचर्स
प्रेरकः मीठा-नमकीन -निशांत
जीवन दर्शनः खुशियाँ ढूँढें अपने अंदर - विजय जोशी

1 comment:

ज्योति-कलश said...

विविध विषयों पर विविध विधाओं से सजा प्रभावी अंक, बहुत बधाई । नव संवत्सर एवम् चैत्र नवरात्रि पर 'उदंती' परिवार के लिए हार्दिक मंगलकामनाएँ 💐💐
सादर
ज्योत्स्ना शर्मा